Contact Information

Theodore Lowe, Ap #867-859
Sit Rd, Azusa New York

We're Available 24/ 7. Call Now.

Ramayan की मंथरा वास्तव में कौन थी।

हम सभी यह तो जानते है। Ramayan में मंथरा के कारण भगवान श्रीराम, माता सीता और लक्ष्मणजी को वनवास जाना पड़ा।

दोस्तों, रामायण में हम केकयी की दासी मंथरा को हम सिर्फ दासी के रूप में ही जानते है परंतु बह सिर्फ दासी नही थी। आगे हम इसके बारे में जानेंगे की बह कोन थी।

displayAds

तो इससे पहले हम यह जानेंगे की Ramayan में मंथरा को यह कार्य क्यो करना पड़ा।

दोस्तों सबसे पहले हमे यह जानना अत्यंत जरूरी है। की श्री राम ने राक्षसो का बध करने के लिए। इस संसार में जन्म लिया था। अगर वो अपने राज्य के कार्यो में ही व्यस्त रहते तो उनका कार्य करना असंभव था। तो इस प्रकार राम का वनवास में जाना बहुत ही जरूरी था। रामायण में वर्णन आता है की जब रावण का अत्याचार बहुत अधिक हो गया था।

ramayan

तो उसके अत्याचार के कारण देवता भी डरने लगे थे। जिसके कारण देवता अपने प्राणों की रक्षा के लिए ब्रह्मा जी के पास गए। बहा भ्रमा जी ने बताया की रावण का वध करने के लिए भगवान् विष्णु के अवतार ने धरती पर श्री राम के नाम से जन्म लिया है और उनकी सहायता करने के लिए तुम सब भी रींछ और वानर रूप में पृथ्वी पर अवतार धारण करो और भगवान राम की सहायता करो।

displayAds

उस समय देवताओं ने एक दुंदुभी नाम की गंधर्वी को बुलाया और कहा तुम पृथ्वी पर जन्म धारण करो और वहां पर तुम्हे कैकेयी की दासी बनना है और भगवान श्री राम की वन में जाने के लिए सहायता करनी है।

उसके बाद वहीँ गंधर्वी पृथ्वी पर कुब्जा के रूप में जन्मी। उस समय उसका नाम मंथरा रखा गया और वहीँ राजा दशरथ की छोटी रानी कैकेयी की दासी बनी थी। उसने अपना कार्य सम्पन किया। जिसके लिए उसे देवताओ ने भेजा था।

ramayan

जिस कारण उसने कैकयी को उकसाया की राम के राजा बनने के बाद उसके पुत्र का क्या होगा। तो राजा दशरथ ने कैकयी को एक बार बरदान दिया था। की तुम मुझसे कभी भी तीन वर मांग सकती हो।

तो उसी बरदान का फायदा उठाते हुए केकयी ने अपने वरदान में राम के लिये 14 वर्ष का वनवास और अपने पुत्र भरत के लिए राज्य माँगा। तो राजा दशरथ को न चाहते हुए भी राम को वनवास भेजना पड़ा। 

तो इस प्रकार अगर मंथरा न होती। तो राम को राक्षसो का सामना करने के लिए बहुत ही मुश्किलो का सामना करना पड सकता था। तो इस प्रकार भगवान श्री राम ने दानवो का संघार किया और एक बार फिर धरती को बोझ से हल्का कर दिया।



SHARE:

Leave A Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Past life regression - क्या हम अपने पिछले जन्म को जान सकते है?

Diabetes के मुख्य लक्षण कोन से है।